छोटा इतिहास


Zac Poonen and Ian Robson in front of 16 DaCosta Square
Zac Poonen and Ian Robson in front of
16 DaCosta Square

क्रिश्चियन फ़ेलोशिप सेंटर (सीएफ़सी) - विश्वासियो की संगति जो कुछ परिवारो के साथ सबसे पहले 1975 में बेंगलोर, भारत में शुरू हुई थी । जेक पूनेन और इयान रोबसन के अगुवाई में – सर्वप्रथम उन्होने निर्णय किया की वे स्वयं सर्वप्रथम प्रभु यीशु के शिष्य बनेंगे और औरो को भी प्रभु के आदेश जो मत्ती 28:18-20 में है उसके आज्ञापालन में शिष्य बनाएँगे । उन्होने विशेष महत्व नया जन्म, भीतरी पवित्रता, आपसी प्रेम, शुद्ध चरित्र, आर्थिक सत्यनिष्ठा और परमेश्वर के सत्य को औरो से बांटना और अपने जीवन के हर पहलू को प्रभु के वचनो पर आधारित बनाने पर दिया । एक छोटे से कुटुंबिक कलिसिया (हाऊस चर्च) की शुरुआत से यह मसीह की देह आत्मा में नए नियम के जीवन की समझ और अनुभव में बढ़ती गई है । आदि से ही और इन चार दशको के दौरान इस कलिसिया के विकास मे यही सिद्धांत मूल आधार रहे है । जल्द ही हमे यह अद्भुत सत्य जिसने हमारे खुद के जीवनो को बदल दिया औरो के साथ बांटने का बोझ महसूस हुआ, और इसकी शुरुआत एक विजयी जीवन के विषय में मासिक पत्रिका और टेप सेवकाई के शुरुआत द्वारा और एक समान रुचि रखनेवाले शिष्यो के लिए सभाओ का आयोजन करने द्वारा हुई । 1981 में यह बढ़ती कलिसिया एक सभा भवन, जो 40 डी-कोस्टा स्क़्वेर बेंगलोर में ले जायी गयी। 1982-1989 में भारत के कई शहरो और राज्यो में कलिसियाओ की स्थापना का कार्य आरंभ हुआ । 1989-1995 एक बहुत ही फलदायी साल जेक पूनेन की पुस्तक लिखने की सेवकाई में था और उसके आनेवाले सालो में उन्होने 20 से भी अधिक पुस्तके प्रकाशित की । 1997 तक ऑडियो टेप द्वारा सुसमाचार अनेक देशो तक पहुंचा । 1999 में जब जेक पूनेन की आयु 60 वर्ष की थी, उन्होने CFC बेंगलोर के अगुवेपन पद से इस्तीफा दे दिया ताकि वचन के लिए यात्रा कर सके । 2003 में हमारी इंटरनेट की सेवकाई आरंभ हुई और इसी दौरान विश्व के कई खंडो में कलिसिया की स्थापना हुई । 2014 में बेंगलोर की कलिसिया ने 40 वर्ष सम्पूर्ण किए और हम पुरानी इमारत से निकलकर वर्तमान सभा खंड जो पेरेडाईज एनक्लेव, बेलाहाली, बेंगलोर में है स्थिर हुए

CFC Elders
Ian Robson, Newton, Charles Banna and Vettriselvan